Shopping Cart
Whats app Us Now
Free: +91-9887917255

HAWAN SET - हवन सेट

ACHMANI AND PANCHPATRA - आच्मनी और पञ्च पात्र

धार्मिक महत्‍ववैभव कहते हैं कि हवन भारतीय परंपरा अथवा सनातन धर्म में शुद्धिकरण का एक कर्मकांड है। पुराणों के अनुसार कुंड में अग्नि के माध्यम से देवता के निकट हवि पहुंचाने की प्रक्रिया को 'यज्ञ' कहते हैं। हवि, हव्य अथवा हविष्य वे पदार्थ हैं जिनकी अग्नि में आहुति दी जाती है।हवन की सामग्रीहवन के लिए आम की लकड़ी, बेल, नीम, पलाश का पौधा, कलीगंज, देवदार की जड़, गूलर की छाल और पत्ती, पीपल की छाल और तना, बेर, आम की पत्ती और तना, चंदन की लकड़ी, तिल, जामुन की कोमल पत्ती, अश्वगंधा की जड़, तमाल यानी कपूर, लौंग, चावल, ब्राम्ही, मुलैठी की जड़, बहेड़ा का फल और हर्रे तथा घी, शकर, जौ, तिल, गुगल, लोभान, इलायची एवं अन्य वनस्पतियों का बूरा उपयोगी होता है। हवन के लिए गाय के गोबर से बनी छोटी-छोटी कटोरियां या उपले घी में डुबोकर डाले जाते हैं।..

₹300 Ex Tax: ₹268

COMPLETE HAWAN SET - पूर्ण हवन सेट

..

₹9,450 Ex Tax: ₹8,008

COPPER TONG - ताम्बा चिमटा

..

₹550 Ex Tax: ₹491

HAWAN KUND WITH STAND - हवन कुंड स्टैंड सहित

|| जय चक्रधारी || हवन :-शास्त्रों में बताए गए नियमों के अनुसार यज्ञ और हवन दैनिक किए जाने चाहिए।हवन और यज्ञ के दौरान जिन मंत्रों का पाठ किया जाता है, वे हमारे जीवन, कल्याण और संकायों की अध्यक्षता करने वाले दिव्य प्राणियों की आराधना के शक्तिशाली मंत्र हैं।वे स्वास्थ्य, लंबे जीवन और आध्यात्मिक भलाई सुनिश्चित करते हैं। हवन इस प्रकार एक वरदान है।प्राचीन ऋषि अंध विश्वासिस  नहीं थे अपितु ऐसे ही हवन और धार्मिक अनुष्ठान करा करते थे।हवन करते समय व्यक्ति की जो भी इच्छा होती है वह इच्छा पूरी हो जाती है।Hawan :-Yajna and havan should be performed strictly according to the rules laid down in the scriptures.The mantras recited during havan and yajna are powerful chants in adoration of the divine beings who preside over our life, welfare and faculties.They ensure health, long life and spiritual wellbeing. The havan is thus a blessing and boon.The ancient rishis were not blind believers in rituals.Whatever desire a person has when doing the havan that desire is fulfilled.|| ॐ का झंडा ऊँचा रहे || ..

₹5,500 Ex Tax: ₹4,661

HAWAN SAMAGRI - हवन सामग्री

|| जय चक्रधारी || हवन सामग्री:-शास्त्रों में बताए गए नियमों के अनुसार यज्ञ और हवन दैनिक किए जाने चाहिए।हवन और यज्ञ के दौरान जिन मंत्रों का पाठ किया जाता है, वे हमारे जीवन, कल्याण और संकायों की अध्यक्षता करने वाले दिव्य प्राणियों की आराधना के शक्तिशाली मंत्र हैं।वे स्वास्थ्य, लंबे जीवन और आध्यात्मिक भलाई सुनिश्चित करते हैं। हवन इस प्रकार एक वरदान है।प्राचीन ऋषि अंध विश्वासिस  नहीं थे अपितु ऐसे ही हवन और धार्मिक अनुष्ठान करा करते थे।हवन करते समय व्यक्ति की जो भी इच्छा होती है वह इच्छा पूरी हो जाती है।Hawan samagri:-Yajna and havan should be performed strictly according to the rules laid down in the scriptures.The mantras recited during havan and yajna are powerful chants in adoration of the divine beings who preside over our life, welfare and faculties.They ensure health, long life and spiritual wellbeing. The havan is thus a blessing and boon.The ancient rishis were not blind believers in rituals.Whatever desire a person has when doing the havan that desire is fulfilled.|| ॐ का झंडा ऊँचा रहे || ..

₹550 Ex Tax: ₹550

Showing 1 to 7 of 7 (1 Pages)