Shopping Cart
Whats app Us Now
Free: +91-9887917255

MAHAVAIKRANT STONE - सुगन्धिका

MAHAVAIKRANT STONE - महावैक्रान्त रतन

|| जय चक्रधारी ||महाविक्रान्त पत्थर :-इसे कुवज्र। विक्रांत ,जीर्णवज्रक अदि नामो से भी जाना जाता है।वैक्रान्त अर्थ जो लोहे को विकृत कर दे ,उसे वैक्रान्त कहते है।  अर्थात लोहे पर जिसे रगड़ने से निशान पड़ जाये उसे ही वैक्रान्त कहा गया है।आठवीं शताब्दी के बाद के रसग्रंथो में वैक्रान्त का वर्णन है। वैक्रान्त कई रंगो में पाया जाता है। श्वेत, नीला,कबूतर  के रंग जैसा।आजकल लोग अलग अलग तरह के पाषाणखंड को वैक्रान्त कहते है।वैक्रान्त के गुण एवं लाभ :-यह आयुष , बुद्धिवर्धक,सभी रोगो को नष्ट करने वाला,पाचन ,रसायन ,हिरा भसम जैसा गुणवान, समस्त दोषो को शमन करने वाला।साथ ही में यह पाण्डु,उदर,और जरा नाशक है।MAHAVAIKRANT STONE-IT IS CALLED AS KUVAJRA. VIKRANT IS ALSO KNOWN BY THE NAME JIRNVAJRAK ETC. VAIKRANT MEANS STONE WHICH DEFORMS IRON, IS CALLED VAIKRANT.SO THE VAIKRANT IS THAT STONE BY WHICH WHEN IRON IS RUBBED BY VAIKRANT IRON GET MARKS OVER IT. VAKRANTA IS DESCRIBED IN THE RAS-GRANTH OF THE LATER EIGHTH CENTURY. VAIKRANTA IS FOUND IN MANY COLORS WHITE, BLUE, AS PIGEON COLOR.NOWADAYS PEOPLE CALL DIFFERENT TYPES OF STONE BLOCKS AS VAIKRANT.PROPERTIES AND BENEFITS OF VAIKRANTA: - THIS GIVES HEALTH, INTELLIGENCY, DESTROYER OF ALL DISEASES, HELPS IN DIGESTION,IT IS COMPARED NEARLY LIKE DIAMOND BHASMA, EXTINGUISHES ALL DEFECTS. IT ALSO HELPS IN ABDOMINAL DISEASE.|| ॐ का झंडा ऊँचा रहे || ..

₹1,100 Ex Tax: ₹1,097

Showing 1 to 1 of 1 (1 Pages)